loading...

आखिर है क्या है और क्यों जरुरी है योग-What is the ultimate and why is yoga

Share:
आखिर क्या है और क्यों जरुरी है योग


 योग आत्मा से आत्मसात करने का एक सबसे आसान जरिया है ।हम सब में जो ऊर्जा और प्रकाश रहता है वह एक ही स्रोत से आता है।योग हमें सिखाता है कि हम सब एक हैं। योग हमें शारीरिक और भावनात्मक दोनों तरह से मजबूत बनता है। योग से आप अपने आसपास की दुनिया के बारे में और ज्यादा जान सकते है और खुद को आत्मसाथ कर सकते है।  योग हमें अधिक दयालु बनता है और दूसरों की गलतियों को स्वीकार करने की कल सीखता है। योग के अभ्यास से आप खुद को पा सकते है। अपना सच्चा प्रतिबिंब देख सकते है।लेकिन ज्यादातर लोग योग को अपने जीवन में शामिल नहीं कर पाते और इसका अभ्यास करने से डरते है। जबकि यह उतना मुश्किल नहीं जितना कि लोग समझते हैं।
  

योग के महत्वपूर्ण पहलु -

भक्ति योग - प्रेम और भक्ति को अनुशासन में करना ही भक्ति योग कहलाता है। 
ज्ञान योग - अनुशासन में अपने भीतर के ज्ञान से आत्मसात करना। 
कर्म योगा -अपने कर्मो पर नियंत्रण पाना और अपने मन में लोगो के लिए सेवा भाव जाग्रत करना। 
  
 कितने तरह के है योग-

एक्रो योगा
अष्टांग योग
हठयोग
हॉट योगा
आयंगर योग
जीवामुक्ति योग
कुंडलिनी योग
पावर योगा
प्रसव पूर्व योग
दृढ योग
सप  योग
तंत्र योग
विन्यास योग
यिन योग
योग संकर
योग थेरेपी


इन बीमारियों से मिलती है निजात -
स्तन कैंसर,
गर्भावस्था,
बांझपन,
बाद अभिघातजन्य तनाव विकार, और
वजन घटना।

इसलिए योग को अपने जीवन में जरूर शामिल करें  जिससे आप भी एक रोगमुक्त ,चिंतामुक्त और स्वस्थ जीवन जी सके। 

यह भी पढ़े-

कोई टिप्पणी नहीं