loading...

देवीजीके दर्शन-Devi GK Darshan

Share:
देवी जी के दर्शन
एक महात्मा थे। वे एकान्तमें देवीजीकी पूजा करते थे। एक दिन जब वे पूजा कर रहे थे उनके मनमें आया कि माता मुझे दर्शन दें। उसी समय उनको दिखायी कि एक बिल्ली साड़ी पहनकर पिछले दो पैरोंसे चल पड़ा
रहा है। एक बार तो उनको डर लगा फिर उन्होंने मातासे प्रार्थना की कि 'माँ! अपने पुत्रको इस प्रकार मत डराओ।" उसी समय बिल्ली देवीके रूपमें प्रकट हो गयी और उनका चढ़ाया हुआ नैवेद्य देवीजीने ग्रहण कर लिया।

कोई टिप्पणी नहीं