loading...

क्षय?

Share:
क्षय? 

एक दिन एक घमंडी वुवकने इंगलैंडकी महारानी एलिजाबेथके आदरभाज़न तथा प्रख्यात शूर सर वॉल्टर रैलेको द्वन्द्रयुद्धकी चुनौती दी । उस समय यूरोपमें द्वन्हु-युद्धकी चुनौतौक्रो अस्वीकार करना अत्यन्त कायस्ताका चिह माना जाता था । सर रैले तलवार चलानेमें अत्यन्त निपुण थे; किंतु उन्होंने उस युवककौ चुनौती अस्वीकार कर दी । इससे उस 

असभ्य युवकने घृणापूर्वक सर रैलेके मुखपर थूक दिया । 

बिना किसी उत्तेजनाकेरैले बोलेड-'जितनी सरलतासे अपने मुखपर पड़े इस धूकक्रो मैं रूमाल निकालकर पोंछ सकता हूँ यदि उतनी ही सरलतासे मानवहत्याका पाप भी पोंछा जा सकता तो अवश्य मैं तलवार निकालकर तुम्हारे साथ भिड पड़ता ।

No comments