loading...

छोड़ कर संसार - Chod ke sansar jab tu jaayega lyrics - Kabir ke shabd

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द

छोड़ कर संसार जब तूँ जाएगा।
कोए न साथी तेरा साथ निभाएगा।।

पृभु का भजन किया ना, सत्संग किया ना दो घड़ियां।
यमदूत लगाकर तुझको ले जाएंगे हथकड़ियां।
कौन छुड़वाएगा।।

इस पेट भरण की खातिर, तूँ पाप कमाता रे निशदिन।
श्मशान में लकड़ी रखके, तेरे आग लगेगी एक दिन।
खाक हो जाएगा।।

सत्संग की है ये गंगा, तूँ इसमें लगा ले गोता।
वरना इस दुनिया से, जाएगा इक दिन रोता।
फेर पछताएगा।।

तूँ करता मेरा-२, ये दुनिया रैन बसेरा।
यहां कोई न रहने पाया, है चंद दिनों का डेरा।
हंस उड़ जाएगा।।

हरि चरणों में निशदिन, तूँ प्रीत लगाले रे बन्दे।
कट जाएंगे सब तेरे, ये जन्म-२ के फंदे।
पार हो जाएगा।।

कोई टिप्पणी नहीं