loading...

घट में तेरे मुथरा कांसी मन खोज ले - ghat mein tere muthra kansi man khoj le - Kabir ke shabd

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द

मन खोज ले, मिले अविनाशी, घट में तेरे मथुरा कांसी।।
अंड पिंड ब्रह्मण्ड में देखो,  सात दीप नो खंड में देखो।
गगन पवन में करो तलासी।।

उसका तो घर है तेरे ही घर में,
काहे को भटक रहा वृथा डगर में।
कर ले ध्यान तूं जग के वासी।।

भूल भुलैया का तोड़ दे ताला,
अंधियारा दूर कर , होगा उजाला।
सद्गुरु ज्ञान काटे यम फांसी।।

रामकिशन जग सपने की माया,
माया में तूने खुद को बहकाया।
कर दे भुगतान बढ़ जाए राशी।।

कोई टिप्पणी नहीं