loading...

हे तुं सतगुरु साबुन ला,तेरी सूरत चुनडिया मैली हो रही-Kabir Ke Shabd-aaj mhaarai rang barsai-2sataguru ji aaa mhaarai paavnaa।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
हे तुं सतगुरु साबुन ला,तेरी सूरत चुनडिया मैली हो रही।
प्रेम प्रीत के जल को लेकर,शील शिला पे न्हा।
यो साबुन बेक़ीमत मिलिया, अंग से खूब लगा।।

मैल मनोरथ मलमल धोले, विषय रंग सब जाएं।
एक रंग यो सुंदर चुनड़ी,  होजा हे खूब सफाए।।

गगन मण्डल तैं साबुन उतरा,भेजा आप पिया।।
त्रिगुण रंग सभी यूँ काटे, दाग रहन ना पाए।।

हिरदेदास सखी तोहे समझावै,माने है तुं नाए।
धोए धाए कै मैली चुनड़ीया, पिय सेती है मिल जाए।।

कोई टिप्पणी नहीं