loading...

चरखला परै हटा ले री माँ, मेरी सूरत राम में लागी-Kabir Ke Shabd-charakhlaa parai hataa le ri maan, meri surat raam men laagi।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द
चरखला परै हटा ले री माँ, मेरी सूरत राम में लागी।
चरखा छोड़ा पीढा छोड़ा, छोड़ा कातना सूत।
संग की सहेली सारी छोड़ी,छोड़ा सास का पूत।।

किस के कातूँ कातने री, ना मने बोई बाड़ी।
औरां की मने के पड़ी, मैं आपे फिरूँ उघाड़ी।।

किसके पिसुं पीसने, नादान उम्र है काची।
सूरत निरतं के बांध घुंघरू,साहब आगे नाची।।

कहे कबीर सुनो भई साधो, जिन ने यो चरखा गाया।
इस चरखे का गावण आला, फेर जन्म ना पाया।।

कोई टिप्पणी नहीं