loading...

छोटा सा होकै रहना रेजग में, तज दो न मान गुमाना जी-Kabir Ke Shabd-chhotaa saa hokai rahnaa rejag men, taj do n maan gumaanaa ji

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द
छोटा सा होकै रहना रेजग में, तज दो न मान गुमाना जी
सत्संग करा सार न जाना, ना छोड़ा बेईमाना जी।
भजन बना न बनी रे बन्दगी, फेर चौरासी में आना जी।।

घर भी छूटा मान नहीं छूटा, व्यर्थ लजा दिया बाना जी।।
साधु भी होना कठिन दुहेला, जीवतड़ा मर जाना जी।।

भर-२भेष बहुत नर भूले, व्यर्थ लजा दिया बाना जी।।
शब्द लखा सोए पार उतर गया, फेर चौरासी न आना जी।।

जितादास कह सुनो तेजा, लग्न गुरु की सहना।
घीसा सन्त शरण सतगुरु की, वो मारा अटल निशाना जी।।

कोई टिप्पणी नहीं