loading...

दीवाने बन्दे कौन है तेरा साथी रे मस्ताने बन्दे-Kabir Ke Shabd-divaane bande kaun hai teraa saathi re mastaane bande।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
दीवाने बन्दे कौन है तेरा साथी रे मस्ताने बन्दे।
जैसे बून्द ओस का मोती, ऐसे काया जाती।
तन से मनवा न्यारा होजा,पड़ी रहेगी माटी।।

खाले-पीले ले-ले दे-दे, यही बात है अच्छी।
चार पहर साहिब नै भज ले, क्या बांधेगा गाँठि।।

मात पिता तेरा कुटुंब कबीला, बेटे पोते नाती।
अंत समय कोए काम ना आवे, मन में हो ले राजी।।

चार जने तने लेके चालें, ऊपर चादर तानी।
कह कबीर सुनो भई साधो, सत्तगुरु बोले बाणी।।

सत्त साहिब

कोई टिप्पणी नहीं