loading...

गठड़ी में लागे तेरै चोर,मुसाफिर के सोवै-Kabir Ke Shabd-gathdi men laage terai chor,musaaphir ke sovai।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द
गठड़ी में लागे तेरै चोर,मुसाफिर के सोवै।
पांच पचीस और तीन चोर हैं।
सबने मचा दिया शोर।।

जाग सवेरा बांट सवेरा।
फेर न लागै कोए चोर।।

भँवसागर एक नदी बहत है।
गुरु बिन उतरा न कोए।।

कहत कबीर सुनो रे साधो।
छोड़ो जगत की डोर।।

कोई टिप्पणी नहीं