loading...

हे सुरतां तेरे सत्तगुरु दे रहे बोल, नींद में सोवे मतना-Kabir Ke Shabd-he surtaan tere sattaguru de rahe bol, nind men sove matnaa।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
हे सुरतां तेरे सत्तगुरु दे रहे बोल, नींद में सोवे मतना।
है तुम लागो राम भजन में, मत फँसो माया की उलझन में।
है सुरतां तूँ मन की घुंडी खोल।।

हे तेरे सत्तगुरु दे रहे हेला, दुनिया दो दिन दर्शन मेला।
है सुरतां दिया बजा ज्ञान का ढोल।।

हे तेरी माया लुटगी सारी, तृष्णा पापन तनै सता रही।
हे सुरतां यो पांच ठगां का टोल।।

हे करो राम नाम की चर्चा, तेरा कुछ ना लागे खर्चा।
हे सुरतां तने पर्चा दे अनमोल।।

हे रोहतक सूर्य नगर में डेरा, हे सब भर्म मेट दे तेरा।
हे सुरतां उड़े पड़े शब्द की रोल।।

सत्त साहिब

कोई टिप्पणी नहीं