loading...

हो विदेशी प्यारे, अँखियाँ जोहवे बाट-Kabir Ke Shabd-ho videshi pyaare, ankhiyaan johve baat।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
हो विदेशी प्यारे, अँखियाँ जोहवे बाट।
हम परदेशी तुम परदेशी प्यारे,
मेरे चित्त में प्रेम उचाट।

खबर हमारी लइ न मुरारी,
हम अटकी ओघट घाट।

नेह नगर से चल कर आई,
प्रेम बणजरी हाट।

तन मन शीश साईं ले लीजे,
करो प्रीति सांट।

नित्यानन्द महबूब गुमानी,
म्हाने मिलियो खोल कपाट।।

कोई टिप्पणी नहीं