loading...

जावेंगे दीवाने देश, फेर नहीं आवांगे।।हेली री-Kabir Ke Shabd-jaavenge divaane desh, pher nahin aavaange।।heli ri।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
जावेंगे दीवाने देश, फेर नहीं आवांगे।।हेली री।
ऊंचे-३मन्दिर हेली गुरु जी का डेरा।
पकड़ डोर चढ जावांगे।।

सुन्न बीच शहर शहर बीच बस्ती।
न्यारा ए नगर बसावांगे।।

खीर खांड का अमृत भोजन।
गुरुआ ने न्योत जिमावांगे।।

कह कमाली कबीरा थारी बाली।
नूर में नूर समावांगे।।

कोई टिप्पणी नहीं