loading...

सदा रहूंगी सत्संग में हेली री, जाऊंगी गुरां के देश-Kabir Ke Shabd-sadaa rahungi satsang men heli ri, jaaungi guraan ke desh।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
सदा रहूंगी सत्संग में हेली री, जाऊंगी गुरां के देश।
अपना पिया निर्धन भला हेली री,चहें काला कुष्टी हो।
वाहे की सेज पधारियां हेली री, भला कहें सब लोग।।

अपना तो कालर भला हेली री, उपजो चहें खारी नून।
देख बिराने डहर ने हेली री, मत ललचावे जी।।

पीर पैगम्बर झूठ है हेली री, झूठे त्रिगुण लोक।
बैठ सभा मे कड़वा बोलना हेली री, बुरा कहें सब लोग।।

मीरा ने सत्तगुरु मिला हेली री, गुरु मीले रविदास।
बांह पकड़ गुरु ले गया हेली री, नाम धनी के पास।।

कोई टिप्पणी नहीं