loading...

सुहागिन मैं तो होए गई हे मेरा जिस दिन मरा भरतार-Kabir Ke Shabd-suhaagin main to hoa gayi he meraa jis din maraa bhartaar।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द
सुहागिन मैं तो होए गई हे मेरा जिस दिन मरा भरतार।
विधवा रही पति जीने से, भोगे कष्ट अपार।
जिस दिन भर गया पति हमारा,खूब करे सिंगार।।

पांच पुता ने मार के मैं भई सपूती नार।
जिस दिन मरगे दसौं भाई,सौई यही पैर पसार।।

मात-पिता के ही मरने से मिटी सभी तकरार।
सारे सुख उस दिन भोगूंगी लू सारे कुटुंब ने मार।।

कह कबीर सुनो भाई साधो इसका करो विचार।
इस त्रिया ने के सुख भोगे सारे कुटुम्ब ने हे मार।।

कोई टिप्पणी नहीं