loading...

सुन सूरत सयानी हे, रँगी हर प्रेम मई-Kabir Ke Shabd-sun surat sayaani he, rngi har prem mayi।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
सुन सूरत सयानी हे, रँगी हर प्रेम मई।
मत होए दीवानी हे, नवेली प्रीत नई।।

रंग भीनी रजनी हे,निकट दयाल भई।
वे सभी बतावें हे जो हर महल गई।।

स्वामी गुमानी जी, चरणां हम लाये लइ।
कह नित्यानन्द बाद भाग, सवेरे भेंट भई।।

कोई टिप्पणी नहीं