loading...

सूरत तुं कौन कहां से आई-Kabir Ke Shabd-surat tun kaun kahaan se aai।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 
कबीर के शब्द
सूरत तुं कौन कहां से आई।
जगत जाल ये मन रच राख्या।
क्यूं या में भरमाई।।

पुरुष अंश तुं सतपुर वासी,
फांसी काल लगाई।।

गुरु की दया साध की संगत,
उलट चलो घर पाई।।

अनहद शब्द सुनो घट भीतर,
राधास्वामी,कहत बुझाई।।

कोई टिप्पणी नहीं