loading...

कबीर तेरा जन्म मरण मिट जाए गुरू - Kabir tera janam maran mit jaye guru - Kabir ke shabd

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 


कबीर के शब्द

तेरा जन्म मरण मिट जाए, गुरू का नाम रटो प्यारे।
जग में आया नर तन पाया, भाग बड़े भारे।
मोह भुलाना कदर न जाना,  ये किया क्या रे।।

बालपन में मन खेलन में, सुख दुःख ना धारे।
तरुण भयो जब नारी वश में,  तन मन धन हारे।।

बूढा होकर घर में रह के, सुनै वचन खारे।
दुर्बल काया रोग सताया,  तृष्णा कर जारे।।

सत्त नहीं सुमरा, बीती उमरा, काल आए मारे।
कह कबीर सत्त नाम बिना रे, कौन विपत टारे।।

कोई टिप्पणी नहीं