loading...

Sab Kuch Sikha Hamne Na Sikhi Hoshiyari – Lyrics in Hindi

Share:

Sab Kuch Sikha Hamne Na Sikhi Hoshiyari – Lyrics in Hindi

सबकुछ सीखा हमने, ना सीखी होशियारी
सच है दुनियावालों के हम हैं अनाड़ी

दुनिया ने कितना समझाया, कौन है अपना कौन पराया
फिर भी दिलकी चोट छूपाकर, हमने आपका दिल बहलाया

खुद ही मर मिटने की ये ज़िद है हमारी
खुद ही मर मिटने की ये ज़िद है हमारी
सच है दुनियावालों के हम हैं अनाड़ी

दिलका चमन उजडते देखा, प्यार का रंग उतरते देखा
हमने हर जीनेवाले को धन दौलत पे मरते देखा

दिल पे मरनेवाले मरेंगे भिखारी
दिल पे मरनेवाले मरेंगे भिखारी
सच है दुनियावालों के हम हैं अनाड़ी

असली नकली चेहरे देखे, दिल पे सौ सौ पहरे देखे
मेरे दुखते दिल से पूछो, क्या क्या ख्वाब सुनहरे देखे

टूटा जिस तारे पे नज़र थी हमारी
टूटा जिस तारे पे नज़र थी हमारी
सच है दुनियावालों के हम हैं अनाड़ी

सबकुछ सीखा हमने, ना सीखी होशियारी
सच है दुनियावालों के हम हैं अनाड़ी

कोई टिप्पणी नहीं