Thursday, September 3, 2020

ये जिंदगी धोखा दे जाएगी, करले भजन हरि का-hari ka bhajan karle-Kabir Ke Shabd

ye jindgi dhokhaa de jaaagi karle bhajan hari ka
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द

ये जिंदगी धोखा दे जाएगी, करले भजन हरि का।
तेरी मन की मन मे रह जाएगी, करले भजन हरि का।।

जोड़-२ जो रखी माया,इसको देख-२ भरमाया।
पानी जैसे बह जाएगी।।

तेरी कोठी तेरी हवेली, बन जाएगी एक पहेली।
धरी यहीं पर रह जाएगी।।

सदा रहे ना जोबन छाया,मिट्टी की ये तेरी काया।
ये तो पल में ढह जाएगी।।

भजन करन का यही है मौका, इस जीवन का नहीं भरोसा।
मोत उठा तुझे ले जाएगी।।

No comments:

Post a Comment