loading...

ट्रेवी फाउंटेन – रोम – जिसमे टूरिस्ट डालते हैं 9 करोड़ रुपए सालाना-Trevi Fountain - Rome - in which tourists pour 9 crores annually

Share:
Trevi Fountain Story & History in Hindi : हमने आपको अपने एक पिछले लेख में हिमाचल में स्तिथ कमरुनाग झील (Kamrunag Jhil) के बारे में बताया था जिसमे कि लोग मनोकामना पूर्ति के लिए रुपए, पैसे और सोना चांदी  डालते हैं। आज हम आपको रोम (इटली) के ट्रेवी फाउंटेन (Trevi Fountain) के बारे में बता रहे है जिसमे भी लोग वापस रोम घूमने कि अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए सिक्के डालते हैं।

लेकिन Kamrunag Jhil और Trevi Fountain में एक बहुत बड़ा फर्क हैं जहाँ Kamrunag Jhil में डाले गए रुपए पैसे हमेशा के लिए उसमे समां जाते हैं, किसी के काम नहीं आते हैं वही Trevi Fountain में डाले गए सिक्के निकालकर स्थानीय गरीबों और बेघर लोगों कि भोजन व्यवस्था  में लगाए जाते हैं।



Trevi fountain – Rome

Trevi Fountain में आप केवल सिक्के ही डाल सकते हैं नोट नहीं ताकि वो पानी से खराब ना हो सके। इसमें एक दिन में करीब 3000 यूरो मूल्य के सिक्के डाले जाते हैं यानि कि 2,50,000 रुपए हर दिन या 9 करोड़ सालाना। दिन में एक बार फाउंटेन को बंद करके सारे सिक्के निकाले जाते हैं।
Coin collecting in Trevi fountain

Trevi Fountain रोम के ट्रेवी शहर में स्तिथ हैं। यह 85 फीट ऊंचा और 161 फीट चौड़ा हैं। यह दुनिया के सबसे खूबसूरत फाउंटेन में से एक हैं। इटेलियन आर्किटेक्ट निकोला साल्वी (Nikola Salvi) द्वारा इसे डिजाइन किया गया था तथा पिएत्रो ब्रैकी (Pietro Bracci) द्वारा निर्मित किया गया था। इसका निर्माण 1732 में शुरू होकर 1762 में समाप्त हुआ था।
Trevi Fountain At Night




रोम आने वाला हरेक टूरिस्ट Trevi Fountain में आकर सिक्का डालता हैं इसके पीछे मान्यता यह हैं कि ऐसा करने से उसे रोम घूमने का दुबारा मोका मिलता हैं।
Trevi Fountain At Night

Trevi Fountain में सिक्का डालने का भी एक तरीका हैं इसके लिए आपको फाउंटेन कि तरफ पीठ करके खड़ा होना पड़ता हैं  फिर सीधे हाथ (Right hand) में सिक्का लेकर उसे उलटे कंधे (Left Shoulder) के ऊपर ले जा के फेकना पड़ता हैं।
coin throwing in the trevi fountain




वेसे तो यह परम्परा बहुत पुरानी हैं पर 1954 में आई एक हॉलीवुड मूवी Three Coins In The Fountain, जो कि इसी थीम पर आधरित थी, के बाद यह बहुत पॉपुलर हो गयी।

Source

कोई टिप्पणी नहीं