Advertisement

Main Ad
करंट सीरीज
बाकी शब्द
नए बाकी शब्द लिखने
नए बाकी शब्द लिखने
रस की भरी एक वाणी।।
भला हे दिन ऊग्या।।
218      चरखले आली री, तेरा चरखा बोलै राम-२-Kabir Ke Shabd-charakhle aali ri, teraa charkhaa bolai ram-2।
कबीर रोवै नीर भरण आली।    205ल