Thursday, April 14, 2022
सेवा ब्रह्मनिष्ठ एक बार महाराज जनक ने एक बहुत बडा यज्ञ किया।  उसमें उन्होंने एक बार एक सहस्त्र सोने से गढ़े हुए सींगों वाली बढ़िया दुधारी गौ...
Thursday, February 3, 2022
Monday, January 31, 2022
तू भिखारी मुझे क्या देगा? बादशाह अकबर विद्वानों, साधुओं और फकीरों का सम्मान करते थे। उनके यहां प्राय: देश के विभिन्न भागों से विद्वान्‌ आया ...
Saturday, January 29, 2022
उचित गौरव एक भंगिन शौचालय स्वच्छ करके जब चलने लगी तब किसी भले आदमी ने कोतुहल वश पूछा - तुम्हे यह काम करने में घृणा नहीं लगती ? तुम इतनी दुर्...
Friday, January 28, 2022
है। और नही। किसी नरेश ने मन्त्री से चार वस्तुएँ मॉगी -  1  है और है,  2 - है और नहीं है,  3 नहीं है पर है, 4 नहीं है, नहीं है।  मन्त्री बुद्...
Wednesday, January 26, 2022
उल्लास के समय  उदासी  क्यों   महाभारत के युद्ध का सत्रहवां दिन समाप्त हो गया था। महारथी कर्ण रणभूमि में गिर चुके थे। पाण्डव शिविर में आनन्दो...
Monday, January 24, 2022
परिहास का दुष्परिणाम   (यादव-कुल को  भीषण शाप ) द्वारका के पास पिंडारक क्षेत्र में स्वभावत: घूमते हुए कुछ ऋषि आ गये थे। उनमें थे विश्वामित्र...