loading...

Best Shayari of Kumar Vishwas Part – 2 (कुमार विश्वास की प्रसिद्ध शायरी पार्ट – 2)

Share:

Best Shayari of Kumar Vishwas Part – 2 (कुमार विश्वास की प्रसिद्ध शायरी पार्ट – 2)

Best Shayari of Kumar Vishwas Part - 2
Kumar Vishwas
****
11
ये वो ही इरादें हैं, ये वो ही तबस्सुम है
हर एक मोहल्लत में, बस दर्द का आलम है


इतनी उदास बातें, इतना उदास लहजा ,
लगता है की तुम को भी, हम सा ही कोई गम है
Ye vo hi iraade hain, ye vo hi tabassum hai
Har ek mohallat mein bas dard ka aalam hai


Itni udaas baatein, itna udaas lahzaa
Lagta hai ki tum ko bhi, hum sa hi koi gham hai
*****
12


स्वयं से दूर हो तुम भी, स्वयं से दूर है हम भी
बहुत मशहुर हो तुम भी, बहुत मशहुर है हम भी
बड़े मगरूर हो तुम भी, बड़े मगरूर है हम भी
अत : मजबुर हो तुम भी, अत : मजबुर है हम भी


Swayam se door ho tum bhi, swayam se door hain hum bhi
Bhaut mashhur ho tum bhi, Bahut mashur hai hum bhi
Bade magroor ho tum bhi, Bade magroor hai hum bhi
Atha majbur ho tum bhi, atha majbur hai hum bhi
*****
13
कहीं पर जग लिए तुम बिन, कहीं पर सो लिए तुम बिन
भरी महफिल में भी अक्सर, अकेले हो लिए तुम बिन
ये पिछले चंद वर्षों की कमाई साथ है अपने
कभी तो हंस लिए तुम बिन, कभी तो रो लिए तुम बिन
Kahi par jag liye tum bin, kahi par so liye tum bin
Bhari mahfil main bhi aksar, akele ho liye tum bin
Ye pichle chand varshon ki, kamai saath hain apne
Kabhi to hans liye tum bin, kabhi to ro liye tum bin
*****
14
कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है
मगर धरती की बैचेनी तो, बस बादल समझता है
मैं तुमसे दूर कितना हु , तू मुझसे दूर कितनी है
ये तेरा दिल समझता है , या मेरा दिल समझता है
Koi deewan kahta hain, koi pagal samjhta hain
Magar dharti ki baicheni to, bas badal samjhta hain
Main tumse door kitna hoon, tu mujhse door kitni hain
Ye tera dil samjhta hain, ya mera dil samjhta hain
*****
15
गिरेबां चाक करना क्या है, सीना और मुश्किल है
हर एक पल मुस्कुरा के, अश्क पीना और मुश्किल है
हमारी बदनसीबी ने, हमें इतना सीखाया है
किसी के इश्क में मरने से, जीना और मुश्किल है
Girebaan chaak karna kya hain, seena aur mushkil hain
Har ek pal muskura ke, ashq peena aur mushkil hain
Humari badnaseebee ne, hume itna shikhaya hain
Kisi ke ishq main marne se, jeena aur mushkil hain
*****
16
मोहब्बत एक अहसासों की पावन सी कहानी है
कभी कबीरा दीवाना था, कभी  मीरा दीवानी है
यहाँ सब लोग कहते है, मेरी आँखों में पानी है
जो तुम समझो तो मोती है, जो ना समझो तो पानी है
Mohabbat ek ahsaason ki pawan si kahani hain
Kabhi Kabira deewana tha, kabhi Meera deewani hain
Yaha sab log kahte hain, meri aankhon mein paani hain
Jo tum samjho to moti hain, jo na samjho to paani hain
*****
17
समंदर पीर का अन्दर है, लेकिन रो नहीं सकता
यह आंसू प्यार का मोती है,  इसको खो नहीं सकता
मेरी चाहत को दुल्हन तू,  बना लेना मगर सुन ले
जो मेरा हो नहीं पाया, वो तेरा हो नहीं सकता
Samdar peer ka andar hain, lekin ro nahi sakta
Yah aansoo pyar ka moti hain, isko kho nahi sakta
Meri chahat ko dulhan tu, bana lena magar sun le
Jo mera ho nahi paya, wo tera ho nahi sakta
*****
18
यह चादर सुख की मोल क्यू, सदा छोटी बनाता  है
सीरा कोई भी थामो, दूसरा खुद छुट जाता है
तुम्हारे साथ था तो मैं, जमाने भर में रुसवा था
मगर अब तुम नहीं हो तो, ज़माना साथ गाता है
Yah chadar sukh ki mola kyu, sada choti banaata hain
Seera koi bhi thamo, dusra khud chut jaata hain
Tumhare saath tha to main, zamaane bhar main rooswa tha
Magar ab tum nahi ho to, zamaana saath gaata hain
*****
19
बस्ती – बस्ती घोर उदासी, पर्वत – पर्वत सुनापन
मन हीरा बेमोल लुट गया, घिस -घिस रीता मन चंदन
इस धरती से उस अम्बर तक, दो ही चीज़ गजब की है
एक तो तेरा भोलापन है, एक मेरा दीवानापन
Basti basti ghor udasi, parvat parvat sunapan
Man heera bemol lut gaya, ghis ghs reeta man chandan
Is dharti se us ambar tak, do hi cheez gajab ki hain
Ek to tera bholapan hain, ek mera deewanapan
*****
20
इस उड़ान पर अब शर्मिंदा, में भी हूँ  और तू भी है
आसमान से गिरा परिंदा,  में भी हूँ  और तू भी है
छुट गयी रस्ते में, जीने मरने की सारी कसमे
अपने – अपने हाल में जिंदा, में भी हूँ और तू भी है
Is udaan par ab sharminda, main bhi hoon aur tu bhi hain
Aasman se gira parinda, main bhi hoon aur tu bhi hain
Chut gayi raste main, jeene marne  ki sari kasme
Apne apne haal main zinda, main bhi hoon aur tu bhi hain
Kumar Vishwas
*****
Part 1    Part 2    Part 3    Part 4
*****

कोई टिप्पणी नहीं