loading...

गर्व किस पर? -Proud of whom?

Share:
गर्व किस पर ?

बादशाह संत के पास उपदेश लेने पहुँचे थे । संत ने पूछा-तू रेगिस्तान मेँ भटक जाय, प्यास के मारे मर रहा हो और उस वक्त सड़े नाले का एक प्याला पानी लेकर कोई तेरे पास आकर कहे- इस प्याले भर पानी का मूल्य तेरा आधा राज्य है । 
When do you feel most proud of whom you are? – Discovering your ...
Pround of Whom
'मैं तुरंत वह पानी ले लूँगा । बादशाह ने  झट से उत्तर दिया । साघु ने फिर पूछा-वह सड़ा पानी पेट मेँ पहुँच कर रोग उतपन कर दे । तू पीड़ा से छटपटाने लगे । मरणासन्न हो जाय और तब एक हकीम पहुँचकर 
कहे- अपना बाकी आधा राज्य दे दो तो तुम्हें ठीक कर सकता हूँ । ' 

बादशाह बोले… इसमें पूछने की कोई बात ही नहीं । मैं उसे बाकी आधा राज्य दे दूँगा । जीबन ही नहीं रहेगा तो राज्य किस काम आयेगा ।' 

संत ने समझाया- तब तू बादशाहत का घमंड किस पर करता है ? एक प्याले सड़े पानी और उससे उत्पन्न विकार को दूर करने के मूल्य मेँ जो दिया जा सके, उस राज्य पर तेरा गर्व है ? ' -सु० सिं०।

कोई टिप्पणी नहीं