loading...

कृतज्ञता का मूल्य - Value of Gratitude

Share:
कृतज्ञता का मूल्य 

एक राजा के पास दो शिकारी कुत्ते थे । वे एक दूसरे से थोडी दूर पर रखे गये । उनमें प्राय: लडाई हुआ करती थी । राजा ने अपने सम्मति दाता से पूछा किं क्या उपाय है जिससे दोनों मित्र की तरह एक साथ रहने लगें । उसने कहा कि आप इन्हें जंगल मे ले जाइये । जब कोई भेडिया दीख पड़े तो इनमें से एक कों उस पर छोड़ दीजिये। जब एक कुत्ता लडते-लडते थकने लगे तब उसकी सहायता के लिये दूसरे को छोड़ दीजियेगा दोनों मिलकर भेडिये को समाप्त कर देंगे और एक-दूसरे के कृतज्ञ हो जायेंगे । 

बादशाह ने ऐसा ही किया। भेडिया आया, पर दोनों कुत्तों ने उसे समाप्त कर दिया । पहले कुत्ते ने दूसरे कुत्ते का बड़ा आभार माना क्योंकि उसकी कृपा से प्राणरक्षा हुई थी । दोनों कुत्ते साथ…साथ रहने लगे और एक दूसरे के मित्र हो गये । 

No comments