loading...

Kumar Vishwas – Kuchh chhote sapno ke badle, badi neend ka sauda karne (कुमार विश्वास – कुछ छोटे सपनो के बदले , बड़ी नींद का सौदा करने)

Share:

Kumar Vishwas – Kuchh chhote sapno ke badle, badi neend ka sauda karne (कुमार विश्वास – कुछ छोटे सपनो के बदले , बड़ी नींद का सौदा करने)

 Kumar Vishwas - Kuchh chhote sapno ke badle, badi neend ka sauda karne
Kumar Vishwas
*****
Kuchh chhote sapno ke badle, badi neend ka sauda karne
Kuchh chhote sapno ke badle, badi neend ka sauda karne
Nikal pade hai paanv abhaage, jaane kaun dagar thaharenge
 
 
Wahi pyaas ke angadh moti, wahi dhoop ki surkh kahani,
Wahi aankh mein ghutkar marti, aansoo ki khuddar jawaani
Har mohre ki mook vivashta, chausar ke khaane kya jaane
Haar jeet tay karti hai we, aaj kaun se ghar thaharenge
Nikal pade hai paanv abhaage, jaan kaun dagar thaharenge
Kuchh palko.n mein band chaandni, kuchh hotho.n mein qaid taraane
Manzil ke gumnaam bhrose, sapno ke lachaar bahaane
Jinki zid ke aage sooraj, morpankh se chaaya maange
Un ke bhi durdmya iraade, veena ke swar par thaharenge
Nikal pade hai paanv abhaage, jaan kaun dagar thaharenge
 
 
Kumar Vishwas
<—-Jiski dhun par duniya naache         Bansuri chali aao, honth ka nimantran hai——->
Collection of Kumar Vishwas Poetry and Lyrics
*****
कुछ छोटे सपनो के बदले , बड़ी नींद का सौदा करने
कुछ छोटे सपनो के बदले , बड़ी नींद का सौदा करने
निकल पडे हैं पांव अभागे ,जाने कौन डगर ठहरेंगे
वही प्यास के अनगढ़ मोती ,वही धूप की सुर्ख कहानी
वही आंख में घुटकर मरती ,आंसू की खुद्दार जवानी
हर मोहरे की मूक विवशता ,चौसर के खाने क्या जाने
हार जीत तय करती है वे , आज कौन से घर ठहरेंगे
निकल पडे हैं पांव अभागे ,जाने कौन डगर ठहरेंगे
कुछ पलकों में बंद चांदनी ,कुछ होठों में कैद तराने
मंजिल के गुमनाम भरोसे ,सपनो के लाचार बहाने
जिनकी जिद के आगे सूरज, मोरपंख से छाया मांगे
उन के भी दुर्दम्य इरादे , वीणा के स्वर पर ठहरेंगे
निकल पडे हैं पांव अभागे ,जाने कौन डगर ठहरेंगे
कुमार विश्वास
<—-जिसकी धुन पर दुनिया नाचे, दिल ऐसा इकतारा है     बाँसुरी चली आओ, होंठ का निमंत्रण है——->
कुमार विश्वास की कविता और गीतों का संग्रह
*****

कोई टिप्पणी नहीं