loading...

भुला लोग कहें घर मेरा - Kabir Ke Shabd - Forgotten people say home-bhulaa log kahen ghar meraa,

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द
भुला लोग कहें घर मेरा, 
जा घर में तूँ भुला डोलै, सो घर नाहीं तेरा।।

हाथी घोड़ा बैल भायला, संग किया घनेरा।
बस्ती में से दियो खदेड़ा, जंगल किया बसेरा।।

गाँठी बांध खर्च नहीं पट्यो, फेर न करियो फेरा।
बीबी बाहर हरम महल में, ये दुनिया का डेरा।।

नो मन सूत उलझ नहीं सुलझे, जन्म-२ उलझेड़ा।
कह कबीर सुनो भई साधो, इस पद का करो निवेरा।।

कोई टिप्पणी नहीं