loading...

राम गुण गायो नहीं, आए करके - kabir ke shabd-raam gun gaayo nahin, aaa karke।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द

राम गुण गायो नहीं, आए करके।
यम से कहोगे क्या जाए करके।।

गर्भ में देखी नरक निशानी,तब तूँ कोल किया था प्राणी।
भजन करूँगा चित्त लाए करके।।

बालापनतेरोलाड़ लडायो, मातपिता तनैपालने झुलायो।
समय गंवायो खेल खाए करके।।

तरुणभयो त्रिया संग राच्यों, नट मर्कट की नाई नाच्यो।
माया में रह्यो रे भरमाए करके।।

जीवन बीत बुढापो आवै, इंद्रिय सब शीतल हो जावै।
तब रोवोगे पछताए करके।।

वेद पुराण सन्त न्यू गावैं,बार बार नर देह न पावै।
देवकी तरोगे हरि गाए करके।।

कोई टिप्पणी नहीं