loading...

मन मेरा हो, हो चल असल फकीर-Kabir Ke Shabd-man meraa ho, ho chal asal phakir।।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द

मन मेरा हो, हो चल असल फकीर।।
काम क्रोध मद लोभ मोह की,
पैरों पड़ी जंजीर।।

पांच तत्व का बना पुतला,
संग ना चले शरीर।।

भाई बन्धु तेरा कुटुम्ब कबीला,
कोय ना बंधावै धीर।।

कह कबीर सुनो भई साधो,
उस दिन की करो तदबीर।।

कोई टिप्पणी नहीं