loading...

मीरा वैरागन हो गई, बाली उमरिया में-Kabir Ke Shabd-miraa vairaagan ho gayi, baali umariyaa men।

Share:
SANT KABIR (Inspirational Biographies for Children) (Hindi Edition ...
Kabir Ke Shabd 

कबीर के शब्द
मीरा वैरागन हो गई, बाली उमरिया में।
जहर के प्याले मंगाए, जो मीरा को पिलाए।
जहर भी अमृत बन गया। बाली।।

धोखे का पलँग बनवाया, तनै मीरा कै बिछवाया।
सेज फूलों की बनगी। बाली।।

जहरीले नाग मंगवाए, गले मीरा के डलवाए।
हार फूलों के बनगे। बाली।।

मीरा को मिले रैदासा, पूरी हुई मन की आशा।
काट दिया यम का फांसा। बाली।।

कोई टिप्पणी नहीं